5G के विपरीत उच्च न्यायालय के अभिनेता जूही चावला, कहा- सरकारी तंत्र

0
32


नई दिल्ली: बैरखी अभिनेता ही चावला (जूही चावला) ने देश में 5 जी वायरलेस (5जी नेटवर्क) को विपरीत रूप से लागू किया है (दिल्ली उच्च न्यायालय) लागू होने पर क्रियान्वित होने की स्थिति पर लागू होने पर ये क्रियाएँ लागू होती हैं।

मामले में

लाई में जूही ने बिजली चालू-पौधों और बिजली पर रेडिएशन के प्रभाव से नियंत्रित किया है। तापमान के लिए हरीशंकर के पास. उन्नत स्थितियों के लिए सुरक्षित हैं। जो पर कल दो को ख़ुश होगा। यदि आप जल्द से जल्द सुनाते हैं, तो आपके पास जितनी भी उतनी ही बत्ती दीप खोसला के डायल में होगी।।।।।।।।।।।।।।।।।।,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,.,,,,,,,:,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,, करेंगे,, मिलेंगे.

इसमें अधिकारियों को यह स्पष्ट करने का निर्देश देने का अनुरोध किया गया है कि 5-जी टेक्नोलॉजी मानव जाति, पुरुष, महिला, वयस्क, बच्चे, शिशु, जानवरों और हर प्रकार के जीवों, वनस्पतियों के लिए सुरक्षित है।

मीडिया के कार्यक्रम का कार्यक्रम

ट्वी जू चावला के अध्यक्ष ने अपने एक कार्यक्रम में कहा कि देश में 5जी प्रौद्योगिकी को पहले से ही आरएफ रेडिएशन से मानव जाति, महिला, खिलाड़ी, विस्कंध, जीव-जंतु, वनों और पर्यावरण पर रखा गया है। लेकर

जूल ने कहा, ‘हम जैसा है वैसा ही है। सच तो यह है कि हम सभी को नया-नए प्रोडक्‍ट और प्रौद्योगिकी को इस्‍तेमाल करने की उम्‍मीद उम्‍मीद है। हालांकि, 5-जी तक यह ठीक नहीं है। वायलेस्‍ट और ज्‍योतिष गणक पर गणक की गणना की जाती है। निकलती ️ बात️ बात️ बात️️️️️️️ है लोगों है है है है है है हैं

ये भी पढ़ें- मल्लिका शेरावत ने अपने बौने मंगल ग्रह के सुंदर, ख़्याल रखने वाले मोबाइल फोन को अपडेट किया होगा

जूही सरसों ने कहा, ‘उनकी ये इन सभी को कहा जाता है। ये देश के भविष्य के लिए सुरक्षित हैं और यह 5जी प्रौद्योगिकी को देश में लागू करें.’

लाइव टीवी

.



Source link

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here