वर्ल्ड चैंपियनशिप और कॉमनवेल्थ में देश का गौरव बढ़ाने वाली मीराबाई चानू से गोल्ड की आस

0
23


Mirabai Chanu profile: टोक्यो ओलंपिक गेम्स शुरू होने में महज 2 दिन बाकी हैं. देश और दुनिया के तमाम खिलाड़ी टोक्यो पहुंच चुके हैं और कुछ दिनों में खेलों के महाकुंभ का आगाज हो जाएगा. इस बार ओलंपिक में भारत की तरफ से 127 खिलाड़ी हिस्सा लेंगे, जिनमें से तमाम खिलाड़ियों से मेडल की उम्मीद है. आज आपको देश की स्टार वेटलिफ्टर मीराबाई चानू के बारे में बताएंगे, जिनसे इस बार मेडल की पूरी उम्मीद है. चानू ने पिछले कुछ सालों में कई बड़ी प्रतियोगिताओं में गोल्ड मेडल जीतकर देश का नाम रोशन किया है. जिससे उनके पदक लाने की उम्मीदें काफी बढ़ गई हैं. 

कभी बनना चाहती थीं तीरंदाज
मीराबाई चानू का जन्म मणिपुर में हुआ था. आपको जानकर हैरानी होगी कि उन्होंने शुरुआत में तीरंदाजी में करियर बनाने का सोचा था लेकिन कुछ कारणों की वजह से वे वेटलिफ्टिंग में आ गईं. उन्होंने दिल लगाकर वेटलिफ्टिंग में मेहनत की और आज वे देश की टॉप वेटलिफ्टर हैं. मीराबाई इंफाल की वेटलिफ्टर कुंजरानी से काफी प्रभावित हैं और उन्हें देखकर ही वेटलिफ्टिंग में आने का फैसला किया था. 

कॉमनवेल्थ 2014 में जीता था सिल्वर मेडल 
मीराबाई चानू अब तक देश के लिए कई मेडल ला चुकी हैं. साल 2014 में ग्लासगो में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में उन्होंने भारत के लिए सिल्वर मेडल जीता था. इसके अलावा वे अब तक कई प्रतियोगिताओं में मेडल जीतकर देश की स्टार वेटलिफ्टर बन चुकी हैं. टोक्यो ओलंपिक में उनकी नजर देश के लिए गोल्ड मेडल जीतने पर होंगी. वह अमेरिका से 50 दिन की ट्रेनिंग पूरी करने के बाद सीधे टोक्यो पहुंची हैं. 

वर्ल्ड चैंपियनशिप 2017 और कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में जीते गोल्ड मेडल 
रियो ओलंपिक 2016 में मीराबाई चानू का प्रदर्शन भले ही बहुत अच्छा नहीं रहा, लेकिन उसके बाद उन्होंने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है. साल 2017 में वर्ल्ड चैंपियनशिप और साल 2018 में कॉमनवेल्थ गेम्स में मीराबाई चानू ने गोल्ड मेडल जीतकर देश का नाम रोशन कर दिया. एक बार फिर वह भारत की तरफ से टोक्यो ओलंपिक में अपना दमखम दिखाएंगी. 

टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाली एकमात्र वेटलिफ्टर 
मीराबाई चानू वेटलिफ्टिंग में टोक्यो ओलंपिक में भारत की तरफ से प्रतिनिधित्व करने वाली एकमात्र खिलाड़ी हैं. वह इस ओलंपिक में महिला 49 किलोग्राम इवेंट में हिस्सा लेकर देश के लिए पदक जीतने की कोशिश करेंगी. पिछले वर्ड चैंपियनशिप और कॉमनवेल्थ गेम में गोल्ड मेडल जीतने से उनका हौसला काफी बढ़ा हुआ है और उम्मीद है कि वे इस बार ओलंपिक में भी भारत का नाम ऊंचा करेंगी. उन्होंने पिछले कई सालों में खुद को ओलंपिक के लिए तैयार किया है.

यह भी पढ़ेंः Tokyo Olympics: सामने आया टीम इंडिया का पूरा कार्यक्रम, यहां जानें कब मैदान पर उतरेंगे आपके पसंदीदा खिलाड़ी



Source link

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here