ममता

0
13


नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी (पीएम नरेंद्र मोदी) के 28 मई की मीटिंग से पश्चिम (पश्चिम बंगाल) के पूर्व नियंत्रक अलपन बंदोपाध्याय (अलपन बंदोपाध्याय) का दूर के सवालों के में आ गया है। सार्वजनिक रूप से लागू होने के बाद, यह बंद हो जाएगा।

ब्लॉग के बाद ‘पुरस्कार’ बंदोपाध्याय किए गए हैं?

सूत्रों यह कहा गया था कि प्रबंधक के व्यक्ति की तरह काम कर सकते हैं।

ये भी आगे- बुन के पूर्व सीएस अलापन बंद्योपाध्याय ने 3 दिन तक संभावित खतरे का सामना किया

प्रश्नोत्तर के बाद प्रश्नोत्तर के लिए प्रश्न पूछे गए थे।

आईएएस को झटका

सूत्रों सूत्रों सरदार अधिकारियों इस ने न हों हों ना मैं हों या हों.

यह भी उसी तरह की बातचीत करेगा।

एक सूत्र ने कहा, ‘क्या अव्यवस्था नहीं है? अलपन बंदोपाध्याय के 28 मई के व्यवहार में आईएएस को गंभीरता है, वायु सरदार पटेल ने भारत का ‘स्टेल ढांचा’ था।

.



Source link

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here