मनिका बत्रा से है भारत को मेडल की उम्मीद, 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में रच चुकी हैं इतिहास

0
12


Tokyo Olympics 2020: दो दिन बाद जापान की राजधानी टोक्यो में ओलंपिक खेलों का आगाज होने जा रहा है. भारत की ओर से इस बार ओलंपिक खेलों में 127 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं. ओलंपिक खेलों के इतिहास में यह भारत का सबसे बड़ा दल है. भारत को टोक्यो ओलंपिक में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की उम्मीद भी है. जिन खिलाड़ियों से गोल्ड मेडल की उम्मीद है उनमें टेबल टेनिस की स्टार खिलाड़ी मनिका बत्रा का नाम भी शामिल है.

भारत की ओर से टेबल टेनिस में मनिका बत्रा समेत चार खिलाड़ी हिस्सा लेंगे. मनिका सिंग्लस के अलावा मिक्सड डबल्स में भी मेडल के लिए किस्मत आजमाती हुई नज़र आएंगी. मिक्सड डबल्स में मनिका बत्रा शरत कमल के साथ जोड़ी बनाकर मैदान में उतरेंगी. 

मनिका बत्रा 2018 के कॉमनवेल्स गेम्स में भारत के लिए टेबल टेनिस में नई स्टार बनकर उभरी हैं. मनिका ने सिंग्लस, वुमेन डबल्स, मिक्सड डबल्स और टीम इवेंट में भारत के लिए चार मेडल अपने नाम किए, जिनमें दो गोल्ड भी शामिल थे. मनिका बत्रा हालांकि दूसरी बार ओलंपिक खेलों में हिस्सा लेने जा रही हैं.

13 साल की उम्र में मिला इंडिया के लिए पहला ब्रेक थ्रो

दिल्ली की रहने वाली मनिका बत्रा ने बेहद कम उम्र में ही टेबल टेनिस खेलना शुरू कर दिया था. 8 साल की उम्र में मनिका ने टेबल टेनिस की प्रोफेशनल एकडेमी ज्वाइन कर ली थी. मनिका ने एक इंटरव्यू में बताया था कि बचपन में उन्होंने इतना लंबा सफर तय करने के बारे में नहीं सोचा था. 

13 साल की उम्र में मनिका को भारत के लिए पहला ब्रेक थ्रो मिला. इसके बाद मनिका ने कभी वापस मुड़कर नहीं देखा और 2016 की एशियन चैंपियनशिप में मेडल जीतकर इतिहास रच दिया. 2018 के कॉमनवेल्थ गेम्स में मनिका ने कामयाबी की नई दास्तां लिखी.

2018 के कॉमनवेल्थ गेम्स में शानदार प्रदर्शन करने के बाद पीएम मोदी ने भी मनिका बत्रा की जमकर तारीफ की थी. पीएम मोदी समेत पूरे देश को उम्मीद है कि मनिका बत्रा टोक्यो ओलंपिक में भारत के लिए मेडल जीतकर नया इतिहास जरूर लिखने में कामयाब होंगी.

IND Vs SL: दीपक चाहर ने राहुल द्रविड़ को दिया कामयाबी का श्रेय, बताया कैसे दिला पाए जीत



Source link

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here