न्यू कोविड-19 वैरिएंट की भारत, ब्राज़ील और यूके के आगमन

0
9


नई दिल्ली: भारत में पहली बार लहरें खत्म हो गई थीं और इस बीच एक बार फिर से आक्रमण किया गया था।’ ! पुणे के इंस्टिट्यूट ऑफ इंस्टिट्यूट ऑफ इफेक्ट (एनआईवी) ने कोविड-19 के एक विशेषज्ञ B.1.1.28.2 का पता लगाया है। ये वेरिएंट ब्रिट्रेन और ब्राजील से भारत आए लोगों में मिला है।

गंभीर संक्रमण का खतरा

नए एनआईवी की जांच के लिए यह गंभीर रूप से गंभीर है।

पुणे के एनआईवी की ही एक और तकनीक है कि कोवैक्सिन इस तरह के विपरीत है। .

इस प्रकार के बारे में पता चलने के बाद वह भी प्रभावित होता है। साथ ही आने वाला समय में भी यह खतरनाक है और उड़ान के समय भी तेज होता है। पहली बार. इस तरह के मामलों के बारे में विस्तृत जानकारी नहीं है।

परिवर्तन महत्वपूर्ण?

हाल ही में WHO ने भारत में ऐसा किया था, तो संकट के समय यह भी खतरे में है।

नवीनतम जानकारी के बारे में विस्तृत जानकारी . भारत के पर्यावरण में परिवर्तन करने के लिए परिवर्तन करने के लिए ऐसा करना होगा।

.



Source link

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here