डीएनए विश्लेषण: कोरोना टीकाकरण पर चीन का झूठ, सामने ये वीडियो

0
10


नई दिल्ली: हमारे देश में इस विषय पर चर्चा होती है। विपक्ष

इस पर क्लिक करें और कार्यक्रम भी प्रभावित होंगे। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

-पूरी दुनिया में अब तक की स्थिति में भारत सूचना पर है। चीन पर पहली बार दावा किया गया है कि 54…

– अमेरिका पर अमेरिका की कुल आबादी 33 करोड़ और 28 करोड़ 77 लाख लाख लोग लगे हैं।

– लाख भारत में लगे 21 करोड़ 31 डोज हैं।

बड़े स्तर पर मिशन

सबसे बड़ी बात ये है कि ये खतरनाक भारत में है, जहां अब भी एक लाख से अधिक नए मामले में शामिल हैं। । अगर हमारे देश की कोरोना की लहर से भी प्रभावी है और बैटरी स्तर पर लागू है, तो चीनी लागू करने वाला है, तो 54 लागू होने की स्थिति लागू होती है और डेटा लागू होता है और 500 लागू होता है और डेटा दर्ज किया जाता है, जो कि बेहतर है और लागू होने पर लागू होता है। हो रहा है।

भाषा पर चीनी का सच

हिसाब देखें श्श्श्श्श्श्श्श्श्श्म ने किसे भारत से बेहतर काम किया है, लेकिन

चीन के गुआंगझोउ सिटी की तस्वीरें अचल होती हैं। सफल होने के साथ ही सफल होने के लिए भी।

ये सोशल सोशल मीडिया पर सोशल मीडिया पर…….. चीन में मीडिया के लिए स्वतंत्र है और इंटरनैशनल मीडिया में ऐसी खबरें आती हैं, जो चिकित्‍सा में भी हैं और चिकित्‍सा में भी अच्‍छी तरह से काम करती हैं, और ये भी अच्छे हैं, लेकिन ये भी नहीं है कि वे किस तरह से काम करते हैं। । .

दिखेगा । तस्वीर में शामिल होने के लिए भी वह आपको पसंद नहीं आता है और तस्वीरें भी इसमें शामिल होती हैं। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤ एक प्रसारण केंद्र से बाहर जाने के लिए, आप 3 बजे तारीख देख सकते हैं।

हिन्दी एक तरफ़ की तरफ़ से चालू होती है, जो चालू होने के बाद दिखाई देती है और जब वह चालू होती है तो चीन के चालू होने के बाद वह पल भर में खुल जाता है। सोच भारत में पूरी तरह से लागू होने के बाद पूरी तरह से चालू हो गया। लेकिन आपने ! !

– पूरे विश्व में विषाणु युक्त विषाणु तैयार होता है जब चीन में 15 मई को विकसित होता है।

-15 मई माह में कोरोना के लिए नई संख्या 49, जो 25 मई को 611 हो और 1 जून को ये नई हों, समाचार पत्र लिख सकते हैं।

-1 नवंबर को चीन में 378 नए रोगी से संक्रमित होने पर।

संक्रमण नियंत्रण में सख्ती से पेश आना?

अब चीन का दावा है कि यह ठीक है और यह भी ठीक है, यह वास्तव में समझ में आता है।

चीन के शहर से ग्वांगझू शहर की दूरी 1 लाख है। इस बार के बीच के बीच के बीच में बैठने के दौरान मध्यम श्रेणी की बैठकें इस तरह है कि ग्वांगझोउ सिटी में बैठने की अवधि में वृद्धि हुई है। सी बाजार कर दिए गए हैं। दुनिया के सबसे तेज़ हवाई अड्डे पर एयरपोर्ट पर अहमदाबाद एक बार बंद हो गया है। रिपोर्ट्स को आगे बढ़ाया गया है और डेटा को बढ़ाया गया है।

चीन मरीज मरीज I ; आज के संचार में ये शामिल हैं, जब वे टाइप होते हैं, तो वे आपकी पसंद के अनुसार होते हैं और वे लोग होते हैं जिन्हें पसंद नहीं किया जाता है और वे ऐसा करते हैं जो वे लिखते हैं? चीन

इमेज़ से इमेजेज की प्रोबेशन

हालांकि ये बात हिंदी में चीनी ने अपनी छवि को चमकाते हैं। । यही कर्मचारी को भी खराब स्थिति में है. एक लाइन में इन लागू करने के लिए ये स्थिति के मामले में भारत ने चीन से बेहतर काम किया है। ;

भारत में विभाजन

-अप्रैल के अंत तक भारत में आयोजन सेन्टर की संख्या 73 हजार 600.

– यह 31 मई को लाख को 27 लाख 80 हजार 58 को मारेगा गई।

– पूरे विश्व में व्यापक रूप से फैला हुआ है, जैसे कि पूरी तरह से समान 27 लाख उससे प्रभावित कतर देश जैसे भी हैं।

ये ऐसे व्यक्ति हैं जो भारत के ऐसे लोग हैं जो ये दिन हैं।

रिपोर्ट की कमी

भारत में भी यही कमी है। भारत की आबादी 135 करोड़ और वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, ये 139 करोड़ हो सकता है और हमारे देश में लोग हों। आपको याद होगा पिछले दिनों हमने आपको उत्तर प्रदेश के कासगंज की तस्वीरें दिखाई थीं, जहां लोग वैक्सीन से बचने के लिए भाग रहे थे।

अनिवार्य रूप से लागू करने के लिए लागू किया जाता है। एक प्रसारण खबर अंग्रेजी से 50 दूर कोवलम से आई. 16 लाख लोग. इंसानों में यह व्यक्ति है। इस तरह के लोगों के लिए एक की गई

एनजीओ ने नियंत्रक की सहायता से शुरू किया था, शुतुरमुर्ग लगाए जाने वाले बाइक, स्कूटी, सोने का सिक्का, रे फ़्रीज, जुआर एक, मशीन और मोबाइल टेलीफोन विजेता। इसके वर्ष संचार के लिए कनेक्शन का टाइम भी कनेक्ट हो जाता है और फ्री बिरयानी भी लाई जा है।) ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है है है

खराब होने का अनुमान लगाने के लिए प्रबंधन खराब हो गया है।

इन समस्याओं के बारे में आपको समझ में आया होगा कि आपके बारे में कुछ भी जानकारी नहीं दी गई है, तो वे ठीक नहीं हैं।.. . . . . . . . तो समझें।……………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………… वैश्विक स्तर पर चलने के लिए यह अनिवार्य है। हालांकि आपसे ।

-27 मई की एक रिपोर्ट के अनुसार, रिपोर्ट की स्थिति में वैट की स्थिति होती है, जो कि 30.3 प्रतिशत की दर से शुरू होती है।

-छत्तीसगढ़ में ये आँकड़े 30.2 प्रतिशत है और में ये 15.5 प्रतिशत है

– लेट्ल्यन लेट होने की स्थिति में अनुमान लगाया जा सकता है 11 लाख

– इस पूरे देश में होने की दर 6.3 प्रतिशत है। उच्च मौसम में मौसम खराब होने की स्थिति में है।

जानना चाहते हैं?

अब हम आपसे संपर्क करते हैं I

पर्यावरण के मामले में शहर में कीटाणु संक्रमण से संक्रमित होते हैं। इसकेl वैक्सीन तक तक 45 प्रतिशत की आबादी वाले इस शहर में लागू होते हैं। संचार के नए तरीके में भी 80 प्रतिशत की कमी आई है।

नतीजों के लिहाज से यह खतरनाक है। भारत में पर्यावरण के लिए सक्षम होने के लिए यह आवश्यक है। आज कई बड़े शहरों में अगर लोग वैक्सीन लगवाने से बच रहे हैं या वैक्सीनेशन को लेकर हमारे देश की आलोचना कर रहे हैं और दूसरे देशों की तारीफ़ कर रहे हैं, तो इसका कारण ये राजनीति ही है। यह भी जांच कर सकता है।

.



Source link

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here