टीके के क्षेत्र में भारत की तरफ़ कदम, अब Haffkine Biopharma भी बनाए कोवैक्सीन

0
13


नई दिल्ली: कोरोना वायरस (कोरोना वैक्सीन) का घर बढ़ाने के लिए केंद्र एक और कदम है। कोवाक्सिन (कोवाक्सिन) निर्माण के साथ सिकंदराबाद बायोटेक (Bharat Biotech) के साथ तकनीकी तकनीक के अनुसार बायो फार्मा को न्यूक्न की 22.8 करोड़ खुराक का प्रोडेक्शन होता है।

घरेलू उत्पाद तेज
तीव्र गति से चलने वाले वातावरण के लिए त्वरित गति से शुरू होने से शुरू में ही घर में तेज गति से चलने वाला तेज तेज होता है। ️️️️️️️️️️️ इस प्रकार की सुरक्षा (जैवप्रौद्योगिकी विभाग)। ये कंपनी हैं: हैफ़काइन्स बायफर्मास्य टेक्नोलॉजी लिमिटेड, मुंबई, संस्कृति विज्ञान प्रयोगशाला, सिकंदरा और भारत रसायन विज्ञान जैविक लिमिटेड, उ.प्र.

22.8 करोड़ डोगी हैफ़कीन्सक
१२२ साल की उम्र में जैविक गुणवत्ता के गुण के रूप में भारत बायटेक लिमिटेड, सिकंदराबाद के साथ प्रौद्योगिकी के लिए बेहतर बनाने के लिए तैयार किया जाता है। टीके का उत्पाद संगठन में. बाय फार्मा के प्रबंधन डॉ. संपिंड राठौड़ ने कहा कि कंपनी के एक साल में कोडिन की 22.8 करोड़ खुराक का उत्पाद है। माइका कि ‘कोइन के उत्पाद के लिए जैविक फार्मा को केंद्र द्वारा 65 अरब डॉलर और महाराष्ट्र सरकार द्वारा 94 करोड़ डॉलर का अंशशोधन किया जाएगा।’

युद्ध स्तर पर चलने की तैयारी
संगठन की तरफ से कहा गया है कि वैक्सीन वैक्सीन डॉक्टर से बनने वाले राठौड़ ने प्रो प्रो प्रो प्रक्रिया में दो चरण शामिल हैं- पहली दवा का निर्माण और दवा का निर्माण। दवा का निर्माण करने के लिए दवा का स्तर 3 (BSL 3)

यह भी पढ़ें: इन गंभीर मामलों में ‘2-डीजी’ ने क्या किया, DRDO ने ये

बीएसएल क्या है 3
बीएसएल 3 एक सुरक्षा मानक है जो ऐसी सुविधाओं पर लागू होता है जहां काम में रोगाणु शामिल होते हैं जो सांस से शरीर में प्रवेश करके गंभीर बीमारी का कारण बन सकते हैं। जैव-विषेषी विभाग की गुणवत्ता और ‘बायो गुणन स्त्राची असंसिलेशंस डॉ. रेणू ने श्रेष्ठ गुण विकसित किया है जो ‘सार्वजज क्षेत्र की संपत्ति का गुण’ बढ़ा सकता है।

लाइव टीवी

.



Source link

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here