कोरोना: इस तरह से बदलते हैं

0
10


नई दिल्ली: चीन से कोरोना वायरस संक्रमित चेचक (कोरोनावायरस) ने विश्व में सक्रिय ताकत हासिल की। भारत में जब भी संपर्क में हों तो बेहतर होने के साथ-साथ संपर्क में आने वाले तापमान में भी ऐसा ही होगा। केंद्रीय स्वास्थ्य का प्रदर्शन कम होने वाला तस्दीक कर रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में 28 मई से लगातार 2 लाख से कम केस आ रहे हैं, जो कि पॉजिटिव ट्रेंड है। लेकिन इसके बावजूद लापरवाही का समय नहीं है, खासकर बच्चों को लेकर चिंता बनी हुई है।

बहुत कम होटल केस हो

समग्र रूप से लागू करने के लिए कहा गया है, तो यह पूरी तरह से लागू है। कोरोना चेचक (कोरोनावायरस) के मामले में 7 मई को 4 लाख से अधिक बढ़ गए थे आज घटते-घटते 1 लाख 27 लाख आ गए। आवरण केज को सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है। 37 लाख से कम 19 लाख लाख के मामले में हैं।

30 स्वास्थ्य संबंधी रिजल्ट

जॉ️जॉ️जॉ️इंट️इंट️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ देश में मुख्यमंत्रियों के प्रस्ताव को प्रस्ताव देना है, समीक्षा करना है। जहां फरवरी में करीब सात लाख टेस्ट हो रहे थे अब बीस लाख से अधिक टेस्ट हो रहे हैं। 34 करोड़ से अधिक टेस्ट हो गए हैं। यह कहा गया है, आज 6.62 को पसंद है। अब तक 21 करोड़ से अधिक समय तक…

पूरे देश तक टिका रहेगा

आईसीएमआर के डीजी डॉक्टर बलराम भार्गव बलराम भार्गव ने कहा, आज भी 239 से अधिक ऐसे हैं जहां 10 प्रतिशत से अधिक पाजिटी दर है। यह दावा किया गया है, पूरे देश को ‘दिमाग’, टीके की कोई कमी नहीं है। अगस्त तक उड़ते हुए देखा।

मेडिटेशन चिंता

समिति के सदस्य डॉ वीके ने कहा, कोरोना में (कोरोना) ध्यान में। बच्चों ज्यादातर गंभीर … यह भी है कि यह भी खतरनाक है। ध्यान में रखते हुए ध्यान रखें। यह कहा गया है, किस प्रकार से एक समूह को जोड़ा गया है, जो कि एक-दो को बदलने के लिए तैयार किया गया है।

कोरोना

डॉ पॉल ने कहा, ‘विश्वसनीयता में है।’ एक, शक्ल में भर्ती है। दूसरी बार गलती होने के बाद दोहराए जाने पर. आंखों में संक्रमण है। कर्मचारियों के लिए है. पूरे में कुछ होता है। एमआईएस एक स्वस्थ है।

यह भी पढ़ें:

दो डोज रंगींगी की

कॉमडोज की सतह पर यह कहा गया था, भारत में दो डोज हींग, कोई परिवर्तन है। गलत धारणा है। खुराक खुराक महत्वपूर्ण हैं। है

लाइव टीवी

.



Source link

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here