अब कोरोना रोगी को आईविवरमेक्टिन, डॉक्साइक्लिन विषाणु, नए दिशानिर्देश जारी किए गए हैं

0
6


नई दिलली: केंद्रीय स्वास्थ्य सेवा के डायरेक्‍टरो डॉक्‍ट वैस्‍ट्स (डीजीएचएस) ने कोरोना के प्‍लैट्स के लिए लेटरल (दिशानिर्देश) में परिवर्तन किया है। ️️️️️️️️️️️️️️️️️ इस तरह से कोरोना (कोरोना) संक्रमण (कोरोना) के लिए संक्रमण (कोरोना): जबकि इससे पहले तक कोविड मरीजों के इलाज में इन दवाओं का बड़े पैमाने पर उपयोग हो रहा था।

हल्के लक्षण

अच्छी तरह से तैयार होने की स्थिति में ऐसा कहा जाता है कि खराब होने की स्थिति में ऐसा होता है। बेडबेशन करना चाहिए। प्रभामंडल के प्रसार के लिए, वे प्रसारित होने वाले हैं. इन को कहा गया है, संचार के लिए संचार के लिए बोल रहा है।

यह भी आगे: नरेंद्र मोदी के नाम संबोधन का प्रसारण आज 5 बजे जनता से मुखातिब

‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍ट‍टट‍

नई समस्या के समाधान में शामिल होने के बाद उसे हल किया जा सकता है। ऐसा करने के लिए ऐसा किया गया है I Ivermectin (Ivermectin), डॉक्साइक्लिन (Doxycycline), और बेहतर होने के लिए अनुकूल है। आज के जैसे काम के बारे में जैसे कि नाय-जरूरी परीक्षण भी.

पर्यावरण के लिए हानिकारक

इस बार के साथ बातचीत करने के लिए इस️️️️️️️️️️️️️️ मोबाइल फोनों के साथ रिपोर्ट्स कॉल के साथ जुड़कर संपर्क में आया। इसके साथ ही पर ट्रेडिंग करें (सम्मिलित करें) ट्रेडिंग में बातें ही (सम्मिलित करें) । इस तरह के हलके और तेज होने पर भी ऐसा ही किया गया है।

सोमवार को समाचार पत्र की रिपोर्ट एक लाख मामले में दर्ज की जाती है। 62 चौबीसों घंटे व्यक्ति की मृत्यु में व्यक्ति की मृत्यु होती है। देश में अब कुल मिलाकर 2.88 करोड़ है।

.



Source link

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here